Browsing Tag

आरएसएस

अतीत की मनमानी और खतरनाक व्याख्या

आरएसएस की 100 से अधिक अनुषांगिक संस्थाएं हैं और इस सूची में नित नए नाम जुड़ते जा रहे हैं। संघ की अनुषांगिक संस्थाओं में से जो प्रसिद्ध हैं…
Read More...

नफरत और सांप्रदायिक हिंसा का बदलता चरित्र

हाल (अप्रैल 2022) में देश के अलग-अलग हिस्सों में रामनवमी और हनुमान जयंती पर जो कुछ हुआ वह अत्‍यंत चिंताजनक है।  रामनवमी पर गुजरात के खंबात…
Read More...

गर्दन काटना और बाल की रक्षा करना अर्थात अम्बेडकर को देवता बनाकर उनके सिद्धांतों की अवहेलना

पिछले सालों की तरह इस साल भी विभिन्न राजनैतिक दलों और संगठनों ने 14 अप्रैल को जोरशोर से अम्बेडकर जयंती मनाई। पिछले कुछ दशकों से लगभग सभी…
Read More...

किसके लिए हैं हिंदी के ‘अखबार’? (डायरी 28 फरवरी, 2022)

ब्राह्मण धर्म के जैसे ही लेखन धर्म भी विशुद्ध रूप से धंधा है। धंधा का मतलब व्यापार है। कुछ लोगों के लिए यह रोजगार भी है। और जैसा कि हर धंधे…
Read More...

आरएसएस की नई हाईटेक साजिश, जिससे पीढ़ियाँ होंगी बर्बाद (डायरी 14 फरवरी, 2022)

कोई भी समाज और मुल्क कैसे आगे बढ़ेगा, इसका जवाब उस दर्शन से मिलता है, जिसमें वह विश्वास करता है। भारतीय समाज के संदर्भ में हम यदि कहना चाहें…
Read More...

हिजाब पहनीं भारत की बहादुर बेटियों के नाम (डायरी 9 फरवरी, 2022)  

कल एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। वीडियो कर्नाटक राज्य के एक कॉलेज परिसर का है। इस वीडियो में एक छात्रा अपनी स्कूटी को पार्क करने के…
Read More...

 कथनी और करनी में फर्क (डायरी 17 जनवरी, 2022) 

बचपन से सुनता आया हूं कि कथनी और करनी में बहुत फर्क होता है। हालांकि बचपन में यह महसूस नहीं होता था। इसकी वजह शायद यह कि कथनी को करनी में…
Read More...

दिल्ली में ओबीसी, एससी, एसटी और अल्पसंख्यकों के एक कार्यक्रम में (डायरी 19 दिसंबर, 2021) 

दिल्ली पटना जैसा शहर नहीं है। पटना की बात अलग थी। एक तो यह कि पटना बहुत छोटा शहर है दिल्ली के मुकाबले और जिस तरह के स्वभाव का मैं हूं, उस…
Read More...

आंख में रखो कुछ पानी, यह है इंदिरा की कहानी (डायरी 19 नवंबर, 2021)

आज 19 नवंबर है। आज के ही दिन 1917 में इंदिरा गांधी का जन्म हुआ था। इस नाते आज के दिन का महत्व है। वह भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री बनीं।…
Read More...

नफरत फैलाने और सांप्रदायिक ध्रुवीकरण का प्रयास है त्रिपुरा में हिंसा

हमारे देश में धार्मिक अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा बहुत आम हो गई है। जहाँ एक ओर प्रधानमंत्री पोप से गले मिल रहे हैं वहीं दूसरी ओर देश में…
Read More...