Wednesday, July 17, 2024
होमTagsAmerica

TAG

america

गाजा पर युद्ध में अमरीका की भूमिका के कारण रेमन मैग्सेसे अवॉर्ड और डिग्रियां वापस करूँगा : संदीप पांडेय

सोशलिस्ट पार्टी (इंडिया) के महासचिव संदीप पांडेय ने गाजा में इस्राइली हमलों में 'अमेरिका की भूमिका' के विरोध में प्रतिष्ठित रेमन मैग्सेसे अवार्ड लौटाने...

भारत में भूजल स्तर लगातार खतरे की तरफ बढ़ रहा है

जैसे ही गर्मी का मौसम आता है, वैसे ही शहरों और गांवों में पानी के लिए हाहाकार होने लगता है। जल स्रोत सूखने लगते...

अफगानिस्तान और पाकिस्तान की बरबादी के बीज अमेरिका ने ही बोये थे

आज अमेरिका के ट्रेड सेंटर और पेंटागन के ऊपर हुए आतंकवादी हमले को तेईस साल पूरे हो रहे हैं और इन हमलों का बदला...

चाँद को छूता अमेरिकी आरक्षण का दायरा

कुछ दिन पूर्व फेसबुक पर विचरण करते समय मेरी दृष्टि अन्तरिक्ष यात्रियों की एक तस्वीर पर अटक गई। इस तस्वीर में चार व्यक्ति थे,...

अंदरूनी मामले कितने अंदरूनी, बाहरी आलोचनाएं कितनी बाहरी

वास्तव में यह दिन 1879 में इसी रोज शुरू हुई फ्रांसीसी क्रांति की सालगिरह के रूप में मनाया जाता है, जिसकी शुरुआत इस कुख्यात जेल में बंद क्रांतिकारियों को छुड़ाने के लिए हमला कर जेल तोड़े जाने के साथ हुई थी। जाहिर है कि भारत से भी बढ़कर फ्रांस में, मानवता को 'स्वतंत्रता, समानता तथा भाईचारा' के लक्ष्य देने वाली, इस फ्रांसीसी क्रांति की सालगिरह की परेड में मुख्य अतिथि प्रधानमंत्री मोदी जैसे भाईचारा-विरोधी नेता को बनाए जाने की काफी आलोचना हुई है।

धरी की धरी रह गई नरेंद्र मोदी की अंतरिक्ष में अमर होने की तमन्ना (डायरी, 8 अगस्त, 2022) 

अंतरिक्ष में कचरा सुनकर ही रोंगटे खड़े हो जाते हैं। हालांकि मैं कोई वैज्ञानिक नहीं हूं जो इससे जुड़े अन्य वैज्ञानिक सवालों के बारे...

कला के जरिए रीरूटिंग अर्थात अपनी जड़ों की ओर लौटना

दूसरा और अंतिम भाग  अम्मान मे घूमते-घूमते हमें एक दरात अल फनम नामक आर्ट गैलरी में ले जाया गया जिसे खालिद शोम फाउंडेशन नामक संस्था...

होण्डुरास से लौटे हुये एक ज़माना बीत गया – दो

भारतीय सभ्यता ढोंग का सबसे बड़ा उदाहरण है सन दो हज़ार की उनतीस जुलाई की सुबह मैं एक इन्टरनेट कैफे गया क्योंकि बहुत दिनों से...

सियासत, समाज और इश्क, डायरी (24 मई, 2022)

 सियासत के मामले में मेरी एक राय यथावत है कि सियासत करनेवाले कभी सीधी रेखा का अनुगमन नहीं करते। सियासत ऐसे की भी नहीं...

भ्रष्ट राजा और उसके भ्रष्ट भांट (डायरी 8 मई,2022)

मेरे गृह राज्य बिहार के राजा नीतीश कुमार अलग तरह का व्यक्तित्व रखते हैं। उन्हें भांट पसंद आते हैं। भांट मतलब वे लोग जो...

भारत के नाम पर बाइडेन की हंसी का निहितार्थ (डायरी 27 फरवरी, 2022)  

अकबर और बीरबल की कहानियां मैं तो बचपन में खूब पढ़ता था। मैं अपने बच्चों को देखता हूं तो उनमें अकबर-बीरबल को पढ़ने का...

युद्ध और हम भारतीयों का अजीबोगरीब भोलापन (डायरी 25 फरवरी, 2022) 

हम भारत के लोग बहुत ही भोले लोग हैं। भले होने की बात मैं नहीं कह सकता। दरअसल, हम भारत के लोग भोले लोग...

हंसी सबसे अच्छी दवा है: मुनव्वर फारूकी

स्टेंडअप कामेडियन मुनव्वर फारूकी बंगलौर में एक परोपकारी संस्था के लिए अपना शो करने वाले थे। पूरे टिकट बिक चुके थे। फिर आयोजकों को...

जी-20 का संकल्प और आंखिन-देखी सच्चाई (डायरी 1 नवंबर, 2021) 

मेरा अपना अनुमान है कि अगले पचास साल में भारत में औसत तापमान में 4-5 डिग्री का इजाफा हो जाएगा। यह मुमकिन है कि...

पाकिस्तान के नाम से आरएसएस के भड़कने का निहितार्थ (डायरी 27 अक्टूबर, 2021)

सियासत की एक खासियत रही है कि इसने अपने मकसद में कभी बदलाव नहीं किया है। हालांकि सियासत ने अपने रूप जरूर बदले हैं।...

हिंदी सिनेमा प्रवासियों का चित्रण सही परिप्रेक्ष्य में नहीं कर सका है

मनुष्यों का एक स्थान से दूसरे स्थान पर पलायन करने का लंबा इतिहास रहा है। इसके पीछे अनेक वस्तुगत कारण होते हैं। समाज वैज्ञानिक...

मस्जिद में लगेगी आग तो मंदिर भी नहीं बचेंगे (डायरी 20 अक्टूबर, 2021)

जिन दिनों भारत ने वैश्वीकरण की नीति को अपना समर्थन दिया था और जब मेरे गांव-शहर में दीवारों पर डंकल प्रस्ताव के खिलाफ नारे...

फर्क केवल नजरिया का नहीं, नीयत का भी है (डायरी 18 अक्टूबर, 2021)  

कल का दिन बहुत खास रहा। मन बहुत रोमांचित था। इसकी वजह भी बहुत खास थी। दरअसल कल दो रूसी फिल्म कलाकारों और एक...

आयुष्मान कैसे भव ?

अमेरिका स्वास्थ पर एक साल में अपने लोगों पर 3 लाख 38 हज़ार करोड़ डॉलर=2करोड़ 44 लाख 19हज़ार करोड़ रुपये खर्च करता है और...

आज ख़ामोश हो गई महिलाओं की मुखर आवाज़

कई महिलाओं की मुखर आवाज़ बनने वाली आज खामोश हो गई है। महिला वर्ग की विभिन्न लड़ाई लड़ने वाली जानी-मानी सामाजिक कर्याकर्ता कमला भसीन...

ताज़ा ख़बरें